गीता का उपदेश

                                                        &nbs

गीता उपदेश

                                                        &nbs

आज का गीता उपदेश

                                                        &nbs

गीता उपदेश

अधिष्ठानं तथा कर्ता करणं च पृथग्विधम्‌ । विविधाश्च पृथक्चेष्टा दैवं चैवात

आज का गीताज्ञान

                                                        &nbs

आज का गीता उपदेश

देवान्भावयतानेन ते देवा भावयन्तु वः । परस्परं भावयन्तः श्रेयः परमवाप्स्य

आजका गीता उपदेश

सहजं कर्म कौन्तेय सदोषमपि न त्यजेत्‌। सर्वारम्भा हि दोषेण धूमेनाग्निरिवा

आज का गीता उपदेश

श्रेयान्स्वधर्मो विगुणः परधर्मात्स्वनुष्ठितात्‌। स्वभावनियतं कर्म कुर

आजका गीताज्ञान

                                                        &nbs

आज का गीता उपदेश

                                                        &nbs

copyright © 2017 All Right Reserved.
Design & Develop by - itinfoclub