सारथी चैनल के साथ राष्ट्रमित्र एवं राष्ट्रसेवक बनने का अवसर

Home / सारथी चैनल के साथ राष्ट्रमित्र एवं राष्ट्रसेवक बनने का अवसर


                                        सारथी चैनल के साथ राष्ट्रमित्र एवं राष्ट्रसेवक बनने का अवसर

आज टेलीविजन के माध्यम से पाश्चात्य संस्कृति एवं ऐसी विभिन्न विचार-धाराएं देशवासियों व युवा पीढ़ी को परोसी जा रही हैं जो हमारी हिंदू संस्कृति और राष्ट्रगर्व को न केवल खोखला कर रही है, बल्कि हमारे बीच ऐसी हीन-भावनाओं को बढ़ावा दे रही हैं जिससे हम अपने धर्म, राष्ट्र और राष्ट्रप्रेम को भूल कर पाश्चात्य सभ्यता और संस्कृति को अपनी धरोहरों से अधिक महत्व दे रहे है और न केवल उसका पालन करने में अपना बड़प्पन समझते हैं बल्कि अपने जीवन का उद्देश्य और अपनी जीवनशैली उसी हिसाब से बनाने में गर्व महसूस करते हैं। आज एक ऐसे प्रयास की आवश्यकता है जो इन धर्म-विरोधी और राष्ट्र-विरोधी ताकतों से न केवल प्रत्यक्ष रूप से लड़े बल्कि अप्रत्यक्ष रूप से काम करने वाली ताकतों का भी मूहतोड़ जवाब दे सकें। सारथी चैनल इसी महती प्रयास का एक छोटा सा उदाहरण बनने के लिए तत्पर है। सारथी एक ऐसा प्रयास है जिसका मूलमंत्र है संजोए भारतीय संस्कृति। हम अपनी भारतीय संस्कृति अपनी धरोहर अपने धर्म की रक्षा करने में सक्षम तभी हो सकते हैं जब हमारा लक्ष्य मोक्ष हो। मोक्ष हम सब का एक अंतिम प्रयास होता है और यह तब होगा जब हम अपने धर्म, संस्कृति और कर्म को तर्कसंगत बनाने के साथ-साथ धर्मानुकुल भी बनाएं। 

इसी लक्ष्य को लेकर सारथी का बीजारोपण इस चैनलों की भीड़ में हुआ है। सारथी एक धार्मिक चैलन है। इस श्रेणी के अन्य चैनलों में चलाए जाने वाले महान संतो के विचारों पंचांग एवं अन्यान्य कार्यक्रमों के अतिरिक्त हम अलग प्रकार के कार्यक्रम और विषय, विचार को प्राथमिकता दे रहे हैं, जो अब तक देश के किसी भी धार्मिक चैनलों में नहीं दिखाया जा रहा है।

हिंदू धर्म के प्रचार-प्रसार का माध्यम बनने के साथ-साथ, सारथी चैनल का उद्देश्य भगवान श्री कृष्ण के मूलमंत्र ‘कर्मण्येवाधिकारस्ते मा फलेषु कदाचन‘ के द्वारा भारत की समाजिक बुराईयों को दूर करते हुए युवा पीढ़ी को कर्म का पाठ पढ़ाना है। हमारा इतिहास और हमारी सभ्यता गौरवशाली रही है और यह बात हमें किसी के सामने प्रमाणित करने की आवश्यकता नहीं है, लेकिन दुख इस बात का है कि हमारे युवा इस गौरवपूर्ण इतिहास को नहीं जानते है। हमारा उद्देश्य है कि हम युवाओं में इस गौरव को महसूस कराये और इस चैनल के माध्यम से राष्ट्रीयता, विश्व-बंधुत्व तथा सर्वधर्म-सम्भाव और 'वसुधैवकुटुम्बकम्' के मंत्र को जन-जन तक पहुचाने हेतु कार्य करे। जिससे राष्ट्रनिर्माण और युवा मन को एक नई दिशा में अग्रसित किया जा सके।

सारथी चैनल एक ऐसे पथ पर अग्रसर है जिसका उद्देश्य व्यवसायिक ना होते हुए राष्ट्रउत्थान तथा वर्तमान और आने वाली पीढ़ी को भारतीय धर्म, संस्कृति राष्ट्र-निर्माण और आपसी भाईचारे से अवगत कराना है। हम चाहते है कि आप हिंदू धर्म के संरक्षण और राष्ट्रउत्थान के इस महान यज्ञ में अपना योगदान देने के लिए सारथी चैनल के साथ जुड़े। आप जानते हैं कि राष्ट्रनिर्माण की राह बहुत कठिन है और नि:स्वार्थ भाव से सेवा करने वाले राष्ट्रभक्तों की संख्या बहुत कम है इसलिए सारथी चैनल उन राष्ट्रभक्तों को एक ऐसा मंच प्रदान कर रहा है जहां हम सब मिलकर अपनी आवाज और विचारों को दुनिया तक पहुंचा सके। हिंदुत्व से जुड़े मुद्दों जैसे- धर्मानंर्तण, गौरक्षा, जातिवाद, अन्य धर्मों एवं पश्चात्य संस्कृति के प्रभाव से पथभ्रष्ट होते युवाओं को मार्गदर्शन दे सके तथा उन्हें राष्ट्रनिर्माण सर्वप्रथम की राह पर अग्रसित कर सके।

हम मानते है कि इस मुहिम में आपका और हमारा कुछ आर्थिक व्यय भी होगा उसे हम कुछ व्यवसायिक माध्यमों से पूरा करेंगे ताकि आपके और हमारे राष्ट्रनिर्माण, हिंदूत्व एवं गौरक्षा के अभियान को अनवरत चलाया जा सके।

कैसे जुड़े रक्षा अभियान से
अगर आपके पास है-
1.  वीडियो कैमरा। (अगर नहीं है तो आज कैमरे 15000से ऊपर मिलते है।)
2.  इंटरनेट औऱ कम्प्यूटर की सुविधा।
3. समाज में आपकी साफ छवि एवं जनसंर्पक।
तो आप इस महान यज्ञ में आहुति डाल सकते हैं।

सारथी आपको क्या देगा-

1. पहचान पत्र
2. प्रमाण पत्र
3. चैनल आईडी
4 स्टीकर एवं बैनर
5. आवश्यतानुसार लाइव या डीलाइव की सुविधा।
6. आपके मन की आवाज जन-जन तक पहुंचाना
7. आपकी पहचान, आपकी आवाज, आपके विचार देश ही नहीं विदेशों तक में रहने वाले राष्ट्रप्रेमी भारतियों तक पहुंचाना।
8. आप बन सकते हैं समाज के परिवर्तक
9. आप सारथी का बोर्ड या फ्लैक्स अपने ऑफिस या घर पर लगा सकते है।

                                 हमारे आपके आर्थिक संबंध-
बिना लगाए पाने का स्वर्णिम अवसर-

1. राष्ट्रमित्र (फ्रेंचाइजी) एवं राष्ट्रसेवक (रिपोर्टर) बनने की प्रक्रिया पुरी करने के बाद धारक को किसी कथा, आरती तथा अन्य किसी आर्थिक गतिविधियों से हुई आय का 30 प्रतिशत  तक का फायदा। (जमानति राशि देने वाले)
2. राष्ट्रसेवक (रिपोर्टर) को उपरोक्त गतिविधियों के लिए 15 प्रतिशत तक का फायदा।
3. राष्ट्रसेवकों, गौसेवकों तथा हिंदू धर्म रक्षा में लगे संस्थानों एवं संस्थाओं का प्रयास देखते हुए उनके द्वारा दिए गए विज्ञापन या कथा, भजन इत्यादि पर तयशुदा प्रतिशत देने पर भी विचार किया जा सकता है।

         कैसे बने राष्ट्रसेवक (रिपोर्टर) एवं राष्ट्रमित्र (फ्रेंचाइजी)-

1. राष्ट्रभक्ति हमारी पहली शर्त है।
2. आपका रूझान खबर को पहचानना बनाना और उसे संजोना संवारना हो।
3. आपके पास आधार कार्ड, वोटर कार्ड, पैन कार्ड तथा बैंक अकाउंट हो।
4. आप किसी असमाजिक गतिविधियों लिप्त न हो।

अगर आप सच्चे राष्ट्र भक्त है और आप देश, समाज, परिवार सुधार के लिए कुछ भी कर गुजरने को तत्पर हैं तो इस अवसर को अपना साधन बनाएं। सारथी जो प्रतिक है एक ऐसे रथ का जिसे स्वयं भगवान श्री कृष्ण दिशा तथा गति दे रहे थे असुरों या पापियों के विनास के लिए उस अद्भुत शक्ति यानि सारथी के साथ इस यज्ञ में सामिल हो तथा राष्ट्रनिर्माण के इस छोटे से प्रयास में भागीदार बने।

संपर्क सूत्र :- मनोज देव पाण्डेय (समन्वयक)
              9891662173
           दीपक कुमार नागवंशी (समन्वयक-विज्ञापन)
              9899982186

E-mail Id- info@sarthichannel.com

नोट :- 1. जल्द ही हम टाटा स्काई और एयरटेल के डीटीएच के प्लेट फार्म पर आ रहे हैं।
      2. आप हमारे इस राष्ट्रनिर्माण, धर्म रक्षा तथा गौरक्षा के मुहिम में एक साथी के रूप में है तो, इस मुहिम को जन-जन तक पहुंचाने में अपने क्षेत्रिय केवल ऑपरेटर से बात करे तथा उनका संपर्क सूत्र हमें प्रदान करे।
       3. जैसा हमने अपने पत्र में लिखा है। यह चैनल सर्वजनहिताय के मंत्र के साथ आगे बढ़ रहा है तो उसी अनुसार हमने सारथी को दिखाने के लिए कोई फीस नहीं रखी है यानी यह चैनल निशुल्क है।

copyright © 2017 All Right Reserved.
Design & Develop by - itinfoclub