गीता अमृत

Home / गीता अमृत
no-img

written by : सराथी

on: 09-03-2018-10:34:08

तुम अपने आपको भगवान को अर्पित करो। यही सबसे उत्तम सहारा है जो इसके सहारे को जानता है वह भय, चिन्ता, शोक से सर्वदा मुक्त रहता है।

no coimments

copyright © 2017 All Right Reserved.
Design & Develop by - itinfoclub